Budget 2024-25 में क्या-क्या हुए बदलाव जानें बजट का लेखा-जोखा

Budget 2024-25: 1 फरवरी 2024 को देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा छठवें बजट को पेश किया गया। यह इस केंद्र सरकार का अंतरिम बजट था क्योंकि अब बस जल्द ही देश में चुनावी तैयारी शुरू होने वाली है और कभी भी सत्ता पलट सकती है । इसीलिए इस बजट में केंद्र सरकार ने किसी भी प्रकार की लुभावनी योजनाओं को करने से परहेज की। परंतु कुल मिलाकर इस योजना में कई सारे ऐसे निर्णय भी लिए गए जो भविष्यवाणी निर्णय दिखाई दे रहे थे । विपक्ष के कई नेताओं ने इस बजट को भविष्यवाणी बजट कहा है । कुछ नेताओं का यह कहना है कि यह  एक विदाई भाषण की तरह लग रहा था जिसमें बजट का कोई जिक्र कहीं भी नहीं था।

Budget 2024-25 से विपक्ष है नाखुश

 जैसा कि हम सब जानते हैं देश का Union Budget 2024 देश की आर्थिक हकीकत का आईना होता है। ऐसे में यदि वित्त मंत्रालय बजट को ठीक से पेश नहीं करेगा तो आम लोग इस बात को जान ही नहीं पाएंगे कि देश में क्या तरक्की हो रही है ? परंतु दूसरी ओर कई नेताओं का यह मानना था कि Budget 2024-25 काफी बेहतर था । विशेषज्ञों का भी यही कहना था कि इस बजट में अंतरिम बजट के चलते कोई बड़े फैसले नहीं लिए जा सकते थे और ना ही बड़े प्रस्ताव पारित किया जा सकते थे कुल मिलाकर यह बजट अब विवाद की जड़ बना हुआ है।

Budget 2024-25 में कोई लुभावने फैसले नही

2024 के बजट को देख तो इस बजट में केंद्र सरकार की कई सारी उपलब्धियों का वर्णन भी किया गया है। हो ना हो यह मानना पड़ेगा कि पिछले कुछ समय से भारत की अर्थव्यवस्था और ज्यादा मजबूत हुई है।  ऐसे में भारत की अर्थव्यवस्था को अब जरूरत है गरीबों ,युवाओं महिलाओं और अन्नदाता पर ध्यान दें। इसीलिए इस बजट में इन चार महत्वपूर्ण स्तंभों पर ही ध्यान दिया गया।

डेयरी योजनाओं पर Interim Budget 2024-25

इस बजट की मुख्य विशेषता थी डेयरी क्षेत्र के लिए चलाई जाने वाली योजनाएं।  इस बजट में दूध के उत्पादन को बढ़ाने का निर्णय लिया गया। भारत दुग्ध उत्पादन में सबसे बड़ा देश है ,यहां से दूध दूसरे देशों में निर्यात किया जाता है इसीलिए दुधारू पशुओं को पालने पर विभिन्न प्रकार की सब्सिडी और विभिन्न डेयरी योजनाएं चलाने का निर्णय लिया गया जिसमें राष्ट्रीय गोकुल मिशन ,राष्ट्रीय पशुधन मिशन जैसी योजनाओं को और सफल बनाने पर जोर देने की बात की।

Interim Budget 2024: अंतरिम बजट 1 फरवरी को, जानें कब कहाँ देखें साथ ही वित्त मंत्री के ये बड़े फैसले

Budget 2024 Live Updates: हर महीने 300 यूनिट फ्री बिजली

Budget 2024 Income Tax: 7.50 लाख तक की आय पर नहीं देना होगा टैक्स?

DA Hike News [Budget 2024]: महंगाई भत्ता 50% और सैलरी में बंपर उछाल, जानें क्या कहते हैं आंकड़े

तेल कम्पनी में इक्विटी समर्थन

इसके अलावा इस बजट में अगले वित्तीय वर्ष के लिए तेल कंपनी को इक्विटी समर्थन देने की भी बात की गई । जानकारी के लिए बता दें वर्ष 2023-24 में केंद्र सरकार ने इंडिया ऑइल कॉरपोरेशन ,भारत पैट्रोलियम कॉरपोरेशन ,हिंदुस्तान पैट्रोलियम कॉरपोरेशन जैसी विभिन्न ऊर्जा कारपोरेशन के अंतर्गत 30000 करोड रुपए के निवेश की घोषणा की थी जिसे देखते हुए अब अगले चरण में 15000 करोड़ के इक्विटी निवेश को अगले वित्तीय वर्ष के लिए टाल दिया गया है।

रेल विभाग के लिए बम्पर घोषणायें

इसके अलावा रेल विभाग की बात करें तो तमिलनाडु ,केरल जैसे राज्यों को रेल विकास परियोजना से जोड़ने के लिए 6,331 करोड़ और 2740 करोड़ का बजट प्रदान किया गया । इस बार केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने दक्षिणी रेलवे विभाग को परियोजनाओं से जोड़ने के लिए बंपर बजट अलॉट किया है।

इसके साथ ही महाराष्ट्र को भी रेल कार्यों के लिए 1554 करोड रुपए आंबटित किए गए जिससे कि महाराष्ट्र रेल विभाग में भी तरक्की हो सके।

Budget 2024-25 में परमाणु ऊर्जा में निवेश पर बात

वहीं परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश की बात करें तो परमाणु विभाग ऊर्जा के अंतर्गत अंतरिम बजट में 36,159 करोड़ आंबटित किए गए । देश में बिजली के बढ़ते संकट और अन्य अनुसंधान पर के लिए जरूरी परमाणु ऊर्जा पर सरकार ने बजट पारित करते समय एक बड़ा हिस्सा अंबाटित किया है।  जिससे कि भविष्य में देश में 10 स्वदेशी रूप से संचालित परमाणु ऊर्जा संयंत्र निर्माण किए जाएंगे।

अंतरिक्ष रिसर्च पर बजट में प्रस्ताव पारित

इसके साथ ही बजट 2024 में अंतरिक्ष विभाग के लिए भी 2000 करोड़ का अतिरिक्त बजट पारित किया गया है । कुल मिलाकर अब तक अंतरिक्ष विभाग के स्पेस रिसर्च सेंटर को 13042.75 करोड़ रुपये आंबटित  किए गए हैं जिस देश में अंतरिक्ष को लेकर विभिन्न प्रकार की रिसर्च की जाएगी और देश में तकनीक और इनोवेशन को महत्वता दी जाएगी।

पूंजीगत लक्ष्य 2024 Budget

वर्ष 2024 के बजट में पूंजीगत व परिवहन को भी 11.1% तक बढ़ाया जाएगा पिछले कुछ समय से देश में आर्थिक विकास और रोजगार सृजन को काफी महत्वता दी जा रही है। इसी को देखते हुए अगले वर्ष में पूंजीगत परिवहन को 11.01% तक बढ़ाया दिया जाएगा जिससे कि अब इसके लिए 11, 11,111 करोड रुपए आंबटित किए जाएंगे ।

इलेक्ट्रॉनिक वाहन पर किया जाएगा निवेश

वही देश में इलेक्ट्रिक वाहन को बढ़ावा देने के लिए जल्द ही सार्वजनिक परिवहन नेटवर्क को ही ई बसों को संचालित करने के लिए भी बजट पारित किया जाएगा। जिसके लिए जगह-जगह पर बुनियादी चार्जिंग स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।

2024 Blue Economy 2.0

2024 के बजट में ब्लू इकोनामी 2.0 के बढ़ाने की भी बात की गई जिसमें जलवायु की लचीली गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा । जहां जल संरक्षण और समुद्री कृषि पर जोर दिया जाएगा। पर्यावरण पर बढ़ते हुए दुष्प्रभाव को देखते हुए देश में जलवायु संरक्षण की भारी जरूरत के चलते ब्लू इकोनामी 2.0 को और ज्यादा प्रोत्साहित किया जाएगा।

पिछड़े राज्यों का विकास होगा लक्ष्य

2024 के बजट में बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ उड़ीसा और पश्चिम बंगाल पर पूरी तरह से ध्यान दिया गया। केंद्र सरकार लगातार कोशिश कर रही है कि इन राज्यों का विकास देश के विकास की नींव बन सके जिससे कि इन पिछड़े हुए राज्यों में भी जल्द से जल्द तरक्की हो और यहां भी आर्थिक उन्नति अगले 5 साल में देखी जा सके।

निष्कर्ष: Budget 2024-25

कुल मिलाकर साल 2024 के बजट में कोई लुभावने निर्णय नहीं लिए गए । इस बजट में धरातल पर बदलाव के निर्णय लिए गए जिसको देखते हुए विपक्ष काफी नाखुश दिखाई दे रहा है परंतु विशेषज्ञों की माने तो यह बजट देश की अर्थव्यवस्था को अगले 5 साल में जरूर बदल सकता है।

bhartiaxa

Leave a Comment