Budget 2024 Highlights: बजट में महिलाओं, किसानों, गरीबों और युवाओं के लिए क्या रहीं बड़ी बातें? पढ़िए पूरी खबर

Budget 2024 Highlights: हर साल की तरह साल 2024-25 का केंद्रीय बजट आज संसद में पेश किया गया। bjp पार्टी की केंद्र सरकार का यह अंतिम बजट माना जा रहा है। गुरुवार 1 फरवरी 2024 के दिन संसद में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपना अंतरिम बजट पेश किया। इस अंतरिम बजट में केंद्र सरकार के दूसरे शासन काल का आखिरी बजट पेश किया जा रहा है ।

महिलाओं, किसानों, गरीबों और युवाओं के लिए है 2024-25 का बजट

जानकारी के लिए बता दे अंतरिम बजट पूरी तरह से युवाओं, किसानों ,महिलाओं और गरीबों को ध्यान में रखकर बनाया गया है। 2024-25 का यह बजट पूरी तरह से इन चार स्तंभों को आधार मानकर बनाया गया है ,जिसमें डायरेक्ट इनडायरेक्ट टैक्स और टैक्स छूट में किसी प्रकार का कोई बदलाव नहीं किया गया है। केंद्र सरकार के इस अंतरिम बजट में महिलाओं किसानों गरीबों और युवाओं को ध्यान में  रखा गया है विभिन्न योजनाएं और भविष्य के लिए लाखों का बजट इनके लिए पारित किया गया है।

Budget 2024 Highlights
Budget 2024 Highlights

टैक्स पेयर्स के लिए कुछ भी नही है खास

अंतरिम बजट में टैक्स स्लैब में फिलहाल किसी प्रकार का कोई बदलाव नहीं किया गया है । टैक्स स्लैब की टैक्स दरें पहले की तरह ही बनी रहेगी । न्यू टैक्स रिजीम की बात करें तो न्यू टैक्स रिजीम के अंतर्गत इनकम टैक्स अधिनियम 87a के अंतर्गत 7 लाख रुपए तक की इनकम वाले व्यक्ति को टैक्स छूट दी जा रही है । वहीं यदि पुरानी टैक्स व्यवस्था के अंतर्गत कोई टेक्स का भुगतान कर रहा है तो उसे 5 लाख की छूट दी जा रही है।

Budget 2024 PM Kisan Yojana Current Update: Increase Expected in Kisan Payouts to ₹9000, Know What Farmers Got

Senior Citizen FD Rates 2024: सीनियर सिटीजंस की मौज ही मौज! मिलेगा 9.10% तक का इंटरेस्ट।

44.90 लाख करोड़ का बजट पारित

साल 2024-25 के बजट में कुल 44.90 लाख करोड रुपए का बजट पारित किया गया है ,जो कि पिछले वर्ष की तुलना से 10 लाख करोड रुपए कम है।

25000 तक पुराने टैक्स बकाया माफ

साल 2024-25 के इस अंतिम बजट में केंद्र मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की है कि इनकम टैक्स स्लैब में किसी प्रकार का कोई बदलाव नही किया जाएगा परंतु 25000 तक के टैक्स बकाया को इस अंतरिम में बजट में माफ जरूर कर दिया जाएगा।

अगले 5 साल : रिफॉर्म परफॉर्म और ट्रांसफार्म

वहीं अंतरिम बजट के अनुसार अगले 5 सालों में भारत की इकोनॉमी ग्रोथ और ज्यादा बढ़ाने की उम्मीद जताई जा रही है। निर्मला सीतारमण ने बताया कि भारत ने पिछले कुछ समय में काफी बड़ी चुनौतियों को पार किया है । भारत की इकोनॉमी फिलहाल रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के फैक्टर पर काम कर रही है जिसके अंतर्गत अब और ज्यादा वित्तीय प्रबंधन किया जाएगा।

गरीबों के लिए आवास योजना

वर्ष 2024-25 के बजट में गरीबों और झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले लोगों के लिए भी नई हाउसिंग स्कीम चलाई जाएंगी जिसके अंतर्गत नई आवास योजनाओं का संचालन किया जाएगा। वही हाउसिंग प्लान के अंतर्गत 5 साल में अन्य दो करोड़ घर बनाने के लिए भी बजट पारित कर दिया गया है

महिलाओं के लिए क्या है बजट में खास

साथ ही महिलाओं के लिए और भी स्वयं सहायता समूह खोले जाएंगे । इसके साथ ही देश भर में लखपति दीदी योजना के अंतर्गत महिला आवेदनकर्ता के लक्ष्य को बढ़ाकर अब 2 करोड़ से 3 करोड़ कर दिया गया है । इसके साथ ही 9 से 14 साल की लड़कियों के लिए सर्वाइकल वैक्सीनेशन का लाभ भी सरकार द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा । वहीं आशा वर्कर्स और आंगनबाड़ी केंद्र में काम करने वाली महिलाओं के विकास के लिए भी बजट में प्रस्ताव पारित कर दिए गए हैं।

सिर्फ 30 सेकंड में बुरे से बुरा सिबिल स्कोर पर भी मिलेगा 8 लाख का लोन, अब पैसे की नो टेंशन

Bonus Gift to Employees: बजट से पहले कर्मचारियों को मिला गिफ्ट, महंगाई भत्ते में भी होगी बढ़ोतरी?

2024-25 सोलर रूफटॉप योजना का वर्ष

इसके साथ ही बढ़ती हुई बिजली की मांग और राज्य सरकारों द्वारा मुफ्त बिजली वितरण योजनाओं को देखते हुए अब वित्त मंत्रालय ने देशभर में 1 करोड़ घरों को सोलर रूफटॉप योजना का लाभार्थी बनाने का निर्णय लिया है। जिससे कि मुक्त बिजली उपलब्ध कराने वाले राज्य जो दिवालिया होने की कगार पर आ गए हैं वह अब राज्य के नागरिकों को सोलर रूफटॉप योजना का लाभार्थी बनाकर बिजली विभाग को नुकसान से बाहर निकाल सकते हैं।  इस सोलर रूफटॉप योजना से एक करोड़ घरों को 300 यूनिट बिजली हर महीने प्राप्त होगी।

युवाओं को मिला बिना ब्याज का ऋण

वही यह बजट युवाओं के लिए भी काफी महत्वपूर्ण रहा । युवाओं के लिए स्टार्टअप लोन की नई व्यवस्थाएं शुरू की गई । वहीं साथ ही साथ युवाओं को इनोवेशन के क्षेत्र में काम करने के लिए 50 साल इंटरेस्ट फ्री लोन देने की भी घोषणा की गई ,जिसके लिए बजट में 1 लाख करोड़ का फंड पारित किया जाएगा।

गरीबों को मिलेगा भरपूर राशन

देशभर के खाद्यान्न विभाग की बात करते हुए निर्मला सीतारमण ने बताया है कि 2023-24 में करीबन 80 करोड लोगों को मुफ्त राशन मुहैया कराया गया  था । वहीं 2024- 25 में इस आंकड़े को और ज्यादा बढ़ाने की कोशिश की जाएगी । सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत पारदर्शिता बढ़ाने की वजह से अब मुफ्त खाद्यान्न प्राप्त करने वाली योजनाओं में धोखाधड़ी देखने में कमी मिली है जिसे लाभार्थियों को भरपूर लाभ मिल रहा है।

2024-25 GDP और Gross Market Borrowing 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ग्रॉस मार्केट बौरोइंग पर बात करते हुए बताया कि वर्ष 2024-25 में ग्रॉस मार्केट बौरोइंग 14 लाख करोड रुपए रहेगी । वही कैपिटल एक्सपेंडिचर को अब 11% तक बढ़ा दिया जाएगा । कैपिटल एक्सपेंडिचर 11% बढ़ाने के फैसले को देखते ही गुरुवार 1 फरवरी को शेयर मार्केट में शेयर 10% तक चढ़ गए । GDP पर बात करते हुए निर्मला सीतारमण ने बताया कि फिसकल डिफिसिट के लिए वर्ष 2024-25 में 5.1% का टारगेट निर्धारित किया गया है ।

टूरिज़्म के लिए मिलेगा 75000 करोड़ का ब्याज मुक्त ऋण

इसी के साथ टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने राज्यों को विकास के लिए 75,000 करोड़ का ब्याज मुक्त कर्ज देने की भी घोषणा की है, जिससे राज्य टूरिज्म को डेवलप कर सके।

रेलवे और उड़ान रुट के लिए क्या है खास

रेलवे को लेकर भी वित्त मंत्रालय ने महत्वपूर्ण घोषणा की है, जिसमें उन्होंने बताया है कि वंदे भारत की लगभग 400 बोगिया अपग्रेड कराई जाएगी और लगभग 300 पुरानी ट्रेन की बगियों को वंदे भारत की तरह ही बनाया जाएगा। अगले 10 साल में 149 एयरपोर्ट बनाए जाएंगे, वही साथ ही साथ देशभर में 517 नई उड़ान रूट कनेक्ट किए जाएंगे।

कौशल प्रशिक्षण को दिया जाएगा और ज्यादा महत्त्व

युवाओं की बात करें तो युवाओं को प्रधानमंत्री कौशल प्रशिक्षण योजना और स्किल सर्टिफिकेट योजना से जोड़ा जाएगा ।और वही साथ ही साथ इस सेक्टर में युवाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी जिससे MSME सेक्टर ग्लोबल स्तर का बनाया जाएगा। इसके साथ ही साथ युवाओं को स्वयं का बिजनेस शुरू करने के लिए ब्याज मुक्त लोन भी दिया जाएगा। इसके साथ ही स्किल इंडिया योजना के अंतर्गत 1.4 करोड़ युवाओं को जोड़ा जाएगा।

देशभर में शिक्षण संस्थानों और शिक्षा स्तर की बेहतरी पर होगा काम

शिक्षण संस्थानों की बात करें तो निर्मला सीतारमण ने बताया कि साल 2023-24 के दौरान 3000 ITI, 7 IIT, 16 IIIT, 7 IIM और 15 AIIMS स्थापित किए गए हैं । वहीं इसके साथ ही 390 विश्वविद्यालय देश भर में स्थापित किए गए हैं। 2024-25 के अंतर्गत अंतरिम बजट होने की वजह इस साल सरकार कुछ लुभावनी घोषणा नहीं कर सकती ,परंतु सरकार कोशिश करेगी कि अगले 10 साल में इन सभी संस्थानों में बहुत बड़ा रिफॉर्म देखने को मिले।

अगले 10 सालों में भारत बनेगा महा शक्ति

कोरोना महामारी के बाद से ही संपूर्ण विश्व जहां महंगाई और कम ग्रोथ की परेशानियां झेल रहा है, वहीं भारत ने इन मुश्किलों को चुनौती पूर्ण ढंग से पार कर लिया है । इस मुश्किल वक्त में भारत में G20 का नेतृत्व किया और वही भारत अब भारत-यूरोप कॉरिडोर के लिए भी कोशिश कर रहा है। भारत-यूरोप कॉरिडोर की संकल्पना भारत के लिए गेम चेंजर साबित होगी जिसमें भारत और यूरोप मिलकर देश में व्यापार और व्यवहार को बढ़ाएंगे।

आर्थिक और सामाजिक कल्याण सुनिश्चित

बजट के दौरान पिछले 10 साल का रिपोर्ट कार्ड भी पेश किया गया, जिससे यह सब साबित होता है की देश में आर्थिक और सामाजिक कल्याण निश्चित रूप से हुआ है। देश में युवाओं, महिलाओं, किसानों, बुजुर्गों तथा गरीबों के लिए विभिन्न योजनाओं का संचालन किया जा रहा है और पारदर्शी रूप से होने वाले इस संचालन की वजह से लाभार्थियों को योजना का लाभ आसानी से DBT के माध्यम से मिल रहा है।

PM मुद्रा ऋण योजना से  बड़ा है स्वरोजगार

प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना की बात करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया है कि अब तक कुल 22.5 लाख करोड रुपए प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण योजना के अंतर्गत सैंक्शन किए गए हैं। जिससे देश में स्वरोजगार में बढ़ावा देखने को मिला है।

किसानों के लिये खोल दिया खज़ाना

किसानों की बात करें तो प्रधानमंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया है कि देश में 4 करोड़ किसानों को पीएम फसल बीमा योजना का फायदा उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किसानों के अकाउंट में डायरेक्ट पैसे ट्रांसफर किए जा रहे हैं। वहीं 1.4 करोड़ किसानों को स्किल इंडिया मिशन से भी जोड़ा गया है जिससे उन्हें फायदा देखने को मिल रहा है।

जनधन योजना से मजदूरों को मिलेगा लाभ

2024-25 के बजट में गरीबों पर भी फोकस किया गया, जिसमें बताया गया कि अब तक प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 78 लाख वेंडर्स को फायदा मिला है । जिसमें 34 लाख करोड रुपए उनके जनधन अकाउंट में ट्रांसफर किए गए हैं। इस योजना की वजह से 10 साल में 25 करोड लोग गरीबी रेखा से बाहर निकाले गए हैं।

निष्कर्ष

कुल मिलाकर यह अंतरिम बजट भले ही लुभावना ना हो पर फैक्ट बेस्ड जरूर है । अंतरिम बजट होने की वजह से सरकार इसमें नागरिकों के लिए ज्यादा लुभावने फैसले नही ले सकती परंतु इसमें देश के हित को देखते हुए महत्वपूर्ण निर्णय जरूर लिए गए हैं।

Bharti Axa

Leave a Comment