Hit and Run Law पर स्टेरिंग छोड़ों आंदोलन Truck driver हड़ताल

नए साल के साथ ही पूरे देश में Hit and Run Law के खिलाफ बढ़ते हुए प्रतिशोध को देखकर ट्रक ड्राइवर ने चक्का जाम कर दिया था। जिसको देखते हुए कई सारे शहरों में अफरा तफरी मच गई थी । इसी Hit and Run Law के खिलाफ फिर से एक बार दुर्ग के ट्रक ड्राइवर ने स्टेरिंग छोड़ो आंदोलन (Quit Steering Movement) छोड़ने की बात कही है। काम पर नहीं जाएंगे ड्राइवर कानून वापस होने तक जारी रहेगा यह आंदोलन.

 दुर्ग के ट्रक ड्राइवर ने मिलकर छत्तीसगढ़ के कलेक्टर को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने बताया है कि  सारे ट्रक ड्राइवर भाई मिलकर सरकार द्वारा बनाए गए Hit and Run Law के खिलाफ कड़ा कदम उठाने वाले हैं जिसमें वह जब तक कानून वापस नहीं लिया जाता तब तक काम पर नहीं आएंगे।

Hit and Run Law से ड्राइवर समुदाय है नाराज़

जैसा कि हम सब जानते हैं Hit and Run Law को लेकर देश में अलग ही बहस छिड़ी हुई है । हाल ही में केंद्र सरकार ने हिट एंड रन कानून का प्रस्ताव पारित किया था । जिसमें यह निर्णय लिया गया था कि यदि कोई भी ड्राइवर किसी राह चलती गाड़ी या नागरिक का एक्सीडेंट कर भागता है तो उसे 10 साल की सजा दी जाएगी साथ उसे जुर्माना भी भुगतना पड़ेगा । इसी बात का विरोध करते हुए एक बार फिर से दुर्ग के ट्रक ड्राइवर ने कलेक्टर को पत्र लिखकर काम पर नहीं आने की बात कही है।

Dehradun Ayodhya Bus Service: आज से देहरादून से अयोध्या के लिए मिलेगी सीधी बस, यहां है सम्पूर्ण जानकारी

NSP Pre-Matric Scholarship 2024-25 : Check Eligibility, Registration Link, NSP Form @scholarships.gov.in

सरकार से कर रहे हैं बेहतर विकल्प की मांग

जानकारी के लिए बता दे दुर्ग के ट्रक ड्राइवर महा संगठन ने मिलकर दुर्ग जिला के कलेक्टर को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने बताया है कि वे लोग किसी प्रकार का हड़ताल या चक्का जाम नहीं कर रहे हैं । बल्कि वह केवल काम पर नहीं आएंगे। वह सभी विचार विमर्श करने के लिए केवल कार्यालय में उपस्थित रहेंगे और किसी प्रकार की ड्राइविंग नहीं करने वाले हैं । जिसे स्टेरिंग छोड़ो आंदोलन (Quit Steering Movement) भी कहा जा रहा है । इस पूरे दौरान छत्तीसगढ़ के दुर्ग में किसी प्रकार की कोई ट्रक ड्राइवर द्वारा आवा जाही नहीं की जाएगी।

कानून वापस ले सरकार

छत्तीसगढ़ के ड्राइवर ने मांग की है कि यह Hit and Run Law 2024 पूरी तरह से गलत है और जिसे वापस ले लेना चाहिए। कानून वापस नहीं होने पर भविष्य में यह आंदोलन और उग्र रूप धारण कर सकता है जिसको देखते हुए शांतिपूर्ण तरीके से फिलहाल स्टेरिंग छोड़ो आंदोलन (Leave Steering Movement) किया जा रहा है। ट्रक ड्राइवर को उम्मीद है कि सरकार पर उनके इस आंदोलन का असर होगा और सरकार इस कानून को वापस लेगी।

दुर्ग में ड्राइवर संगठन ने लिखा कलेक्टर को पत्र

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के ट्रक ड्राइवर ने कलेक्टर को पत्र लिखकर बताया है कि वह 9 जनवरी 2024 से रात 12:00 से ही स्टेरिंग छोड़ो आंदोलन के अंतर्गत कम पर नहीं आएंगे और संपूर्ण छत्तीसगढ़ में इस आंदोलन को सक्रिय रखा जाएगा ।जिसमें कोशिश की जाएगी कि नागरिकों को किसी प्रकार की असुविधा  न हो और न ही हड़ताल और चक्का जाम जैसे कदम  उठाये जाए बल्कि प्यार से विचार विमर्श किया जाए।

Skill India Digital Free Certificate Course 2024: घर बैठे सरकार से मान्यता प्राप्त स्किल सर्टिफिकेट कोर्स, बिलकुल फ्री

SSC Calendar 2024-25 (OUT) | SSC Exams 2024 | SSC CGL, CHSL, MTS Exam Date 2024

क्या है यह hit and run law

  • वे सभी पाठक जो  इस कानून के बारे में कुछ नहीं पता है हम अपने लेख के माध्यम से आपको बताना चाहेंगे कि भारतीय न्याय संहिता 2023 की धारा 106(2) के अंतर्गत के इस कानून को लागू किया गया है ।
  • जिसमें hit and run law की घटनाओं के लिए गंभीर दंड का प्रावधान किया जाएगा ।
  • जिसकी वजह से ड्राइविंग करने वाले ड्राइवरों के बीच में अफरा तफरी मच गई है ।
  • भारतीय न्याय संहिता के अनुसार धारा 106(2) के अनुसार यदि कोई ड्राइवर किसी को जख्मी करके दुर्घटना स्थल से भागता है तो और वह पुलिस अधिकारी या मजिस्ट्रेट को घटना की रिपोर्ट नहीं करता है तो उसे 10 साल की जेल और जुर्माना लगाया जाएगा ।
  • वहीं यदि ड्राइवर दुर्घटना के बाद स्वयं ही घटना को आकर रिपोर्ट करता है तो उस पर भारतीय न्याय संहिता की धारा 106(2) की बजाय 106(1)लगाई जाएगी जिसमें उसे केवल 5 साल की सजा दी जाएगी क्योंकि यह गैर इरादतन हत्या की श्रेणी में आता है।

निष्कर्ष: quit steering movement against hit and run law

कुल मिलाकर सरकार इस कानून पर आगे क्या निर्णय लेगी यह तो कोई भी नहीं बता सकता परंतु ड्राइवर समुदाय लगातार इस बात का विरोध कर रहा है  । पर एक बार फिर से दुर्ग के ड्राइवर स्टेरिंग छोड़ो आंदोलन कर रहे हैं जिसकी वजह से अब कुछ समय तक छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ट्रक ड्राइवर काम पर नहीं लौटेंगे ।जानकारी के लिए बता दे यह स्टेरिंग छोड़ो आंदोलन 9 जनवरी 2024 से रात 12:00 से शुरू होगया।

bhartiaxa

Leave a Comment