सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा Interest-free लोन, EMI भी अपनी इच्छा अनुसार भरने का विकल्प

Government Employee Loan: यदि आप भी सरकारी कर्मचारी हैं और भविष्य में आप लोन लेने की सोच रहे हैं तो जानकारी के लिए बता दें आपको बिना ब्याज का लोन सरकार की तरफ से मिल सकता है। इस लोन को आप आसानी से बिना दस्तावेजीकरण के ले सकते हैं वहीं इसके लिए आपको EMI चुकाने की जरूरत नहीं पड़तीम

Government Employee Loan – क्या है यह बिना ब्याज का लोन

जी हां, सरकारी कर्मचारियों को नौकरी के दौरान ढेर सारी सुविधाएं  दी जाती है इसमें से एक मुख्य सहूलियत है आसान लोन की सुविधा। सरकारी कर्मचारी अपने नौकरी के दौरान इस आसान लोन की सुविधा का लाभ कभी भी उठा सकता है । यह लोन केवल सरकारी कर्मचारियों को दिया जाता है जिसमें उन्हें किसी प्रकार का कोई ब्याज चुकाने की जरूरत नहीं होती । वहीं साथ ही साथ यदि वे इस लोन का भुगतान आसान emi से करना चाहे तो अपनी मर्जी के अनुसार वह कभी भी कर सकते हैं। कई बार तो कर्मचारियों को इस लोन को चुकाने की आवश्यकता भी नहीं होती। आईये आपको बताते हैं इस लोन के बारे में

2004 के पहले के सभी सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा यह लोन

यह लोन उन सभी कर्मचारियों को दिया जाता है जो साल 2004 से पहले ही सरकारी नौकरी में प्रवेश कर चुके हैं । बता दे 2004 से पहले सरकारी नौकरी करने वाले सरकारी कर्मचारियों के लिए सरकार जनरल प्रोविडेंट फंड अकाउंट खोलती थी। इस खाते में कर्मचारियों की सैलरी तथा महंगाई भत्ते में से एक निश्चित अमाउंट काट कर जमा किया जाता था। वहीं  कंपनी द्वारा भी इस खाते में एक निश्चित राशि जमा की जाती थी इस प्रकार यह खाता विशेष कर रिटायरमेंट के बाद आर्थिक मदद करने के लिए खोला जाता था। परंतु इस खाते का उपयोग कर्मचारी अपनी नौकरी के दौरान भी कर सकता है।

नौकरी करते समय यदि कर्मचारियों को आर्थिक मदद की जरूरत है और कर्मचारी किसी प्रकार का लोन लेने की सोच रहा है तो कर्मचारी इस खाते में से राशि निकाल सकता है और आसान किस्तों में इसे चुका सकता है।

Loan with a Low or Bad CIBIL (Credit) Score: Loan of ₹8 lakh within 5 minutes

IIFL Home Loans 2024: Features, Eligibility, Online Application & Loan Bill Payment

Zero Cibil Score Loan 2024: Get an instant loan of Rs 1,50,000 lakh without a salary slip, just through Aadhaar?

GPF क्या होता है?

जानकारी के लिए बता दे GPF खाते में कर्मचारी की सैलरी और महंगाई भत्ते का 6% हर महीने जमा किया जाता है ।अब यह कर्मचारी की मर्जी पर है कि वह अधिक राशि भी इस खाते में जमा कर सकता है। यह खाता मुख्यतः कर्मचारियों के भविष्य को सुनिश्चित करने के लिए खोला जाता है जिस पर सरकार की तरफ से चक्रवर्ती दर से ब्याज भी दिया जाता है ।साल 2023 के अंतर्गत जीपीएफ खाते पर 7.1% तक की ब्याज दी जा रही है जिसे हर तीन माह में बढ़ाया भी जाता है।

हालांकि साल 2004 के बाद से NPS लागू होने की वजह से सरकार ने कर्मचारियों के जीपीएफ खाते खोलना बंद कर दिया हैं परंतु साल 2004 के पहले जिन कर्मचारियों के  GPF खाते खुले हुए हैं वह इस खाते पर आसान लोन प्राप्त कर सकते हैं।

GPF खाते से कितना लोन लिया जा सकता है

 वह सारे सरकारी कर्मचारी जिनका GPF खाता 2004 से पहले खुल चुका है वह अपने खाते में जमा राशि का 75% तक का अमाउंट लोन के रूप में निकाल सकते हैं ।हालांकि साल 2021 में सरकार ने कर्मचारियों के लिए अलग-अलग लिमिट निर्धारित कर दी है जिसमें 10% से 50% तक की राशि निकालने की सुविधा दी जा रही है । परंतु विशेष परिस्थितियों के दौरान  90% तक का लोन भी लिया जा सकता है। यह पूरी तरह से कर्मचारियों के लोन लेने के कारण पर निर्भर करता है। वही साथ ही पैसे निकालने की लिमिट कर्मचारियों के सेवा काल को आधार मानकर भी तय की जाती है।

कितने साल के बाद कर्मचारी GPF खाते से लोन ले सकता है

GPF खाते से कर्मचारी दो तरह से लोन ले सकता है

पहला तरीका

  • यदि कर्मचारियों को नौकरी करते हुए 15 साल बीत गए हैं तो कर्मचारी जीपीएफ खाते से 75% जितना लोन ले सकता है।
  •  कुछ विशेष मामलों में कर्मचारियों को 90% तक की राशि लोन के रूप में दी जाती है।
  •  वहीं यदि कर्मचारी के रिटायरमेंट में केवल 10 साल का समय बचा है तब भी कर्मचारी 90% तक का लोन इस खाते से निकल सकता है ।
  • वहीं कर्मचारियों को इस लोन को वापस करने की आवश्यकता भी नहीं होती।
  •  यह कर्मचारी के ऊपर निर्भर करता है कि वह इसमें emi चुकाना चाहता है या नहीं। अन्यथा सरकार इस पैसे की कोई वसूली नहीं करती।

दूसरा तरीका

  • इसके अलावा यदि कर्मचारियों को अभी नौकरी करते हुए 15 साल की अवधि पूरी नहीं हुई है तो कर्मचारी इस अकाउंट से 75 फ़ीसदी से लेकर 90 फ़ीसदी तक का पैसा निकाल सकता है।
  • इस लोन पर भी किसी प्रकार का कोई ब्याज नहीं लिया जाता परंतु परंतु इस प्रकार के लोन में कर्मचारियों को 24 किस्तों में लोन चुकाना जरूरी होता है।

यदि आप भी GPF में निवेश करते हैं तो आपकी जानकारी के लिए बता दें पेंशन और पेंशन भोगी कल्याण विभाग ने इस gpf के नियम में कुछ विशेष बदलाव किए हैं जो इस प्रकार से हैं

Pradhan Mantri Aadhar Card Loan 2024: Loan without guarantee only through Aadhaar, process completes in 2 minutes

RBI Approved Low Credit Score Loan Apps 2024: Low CIBIL Score Loan of ₹5 lakh by phone, Apply Here Today Itself

GPF से लोन लेने वाला कर्मचारी महत्वपूर्ण परिस्थितियों में ही लोन ले सकता है। यह कारण निम्नलिखित होने चाहिए

  • बच्चों की प्राथमिक माध्यमिक और उच्च शिक्षा के कारण से कर्मचारी लोन ले सकता है।
  • कर्मचारियों के घर में कोई महत्वपूर्ण समारोह जैसे सगाई , विवाह अंत्येष्टि या अन्य कोई समारोह हो ।
  • परिवारजन या स्वयं की बीमारी के लिए ।
  • महत्वपूर्ण वस्तुओं की खरीद अथवा घर बनाने या घर की मरम्मत के लिए।
  • इन सभी कर्म में कर्मचारियों को 75% से 90% तक का लोन दिया जाता है ।

इस प्रकार वे सभी कर्मचारी जो सरकारी जॉब कर रहे हैं वह सभी बिना ब्याज का लोन सरकार की ओर से प्राप्त कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए कर्मचारियों से निवेदन है कि वह GPF की आधिकारिक वेबसाइट पर विज़िट करें।

Bharti Axa